तीर्थगुरू पुष्करराज – Tirthguru PushkarRaj

जिस प्रकार देवताओं में पुरूषोŸाम सर्वश्रेष्ठ हैं। वैसे ही तीर्थों में पुष्कर आदि तीर्थ है – यथा सुराणां सर्वेषामादिस्तु पुरूषोŸामः। तथैव पुष्करं राजंस्तीर्थानामादिरूच्यते।। इसे सिद्धतीर्थ माना गया है। कहते... Read more »